Sports Uncategorized

झुग्गी में रहने वाली सरगम ने 270 किग्रा वजन उठाकर जीता स्वर्ण पदक

म.प्र.को 2 स्वर्ण दिलाने वाली बेटी सरगम पर आज सभी को गर्व हो रहा है. सरगम – 57 किग्रा) ने अपने वजन से करीब 5 गुना ज्यादा वजन उठा कर पावर लिफ्टिंग एवं बेंच प्रेस स्पर्धा में सफलता हासिल की है|

सरगम कृष्णबाग झुग्गीबस्ती के छोटे से घर में रहती हैं। पिता ड्राइवर हैं, लेकिन उनके पासनौकरी नहीं है। कभी कोई अपनी गाड़ी चलाने बुलाता है तो कमाई हो जाती है। घर में माता-पिता और साथ सरगम रहती हैं। सरगम बताती हैं, ‘मैं बीए की पढ़ाई कर रही हूं। 2014 में पावर लिफ्टिंग स्पर्धा हुई थी। तब मेरे कोच शिवशंकर ठाकुर से मुलाकात हुई तो उन्होंने इस खेल से जुड़ने को प्रेरित किया। शुरुआत में मुझे दिलचस्पी नहीं थी, लेकिन धीरे-धीरे मेरा मन लगने लगा।’ सरगम हाल ही में इंदौर में हुई राज्य स्पर्धा में जूनियर और सीनियर दोनों वर्गों में स्वर्ण पदक जीत चुकी हैं।इसके अलावा उनके नाम दो रजत भी हैं। राज्य शालेय खेलों में भी स्वर्ण जीत चुकी हैं।

वे बताती हैं, ‘पावर लिफ्टिंग की किट महंगी आती है। इसके लिए मुझे पूर्व कलेक्टर पी. नरहरि ने 50 हजार रुपए की आर्थिक मदद भी की थी। आर्थिक कमजोरी के बावजूद मेरे माता-पिता हमेशा प्रोत्साहित करते हैं और मैं उनके लिए अंतरराष्ट्रीय पदक जीतना चाहती हूं।’

इसके बावजूद अपनी लगन और कठिन परिश्रम से सरगम गोवा में संपन्न वेस्टर्न इंडिया पॉवर लिफ्टिंग चैंपियनशिप में प्रदेश को 2 स्वर्ण पदक दिलाए। स्पर्धा में इंदौर कॉर्पोरेशन के खिलाड़ियों ने 5 पदक जीते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *