311-indore-app

महापौर ने शहरवासियों से मोबाइल ऐप इंदौर 311′ डाउनलोड करने का आग्रह किया, जिससे 24 घंटे में उनकी समस्याएं दूर होंगी। निगमायुक्त ने कहा इंदौर देश का पहला शहर है जहां रहवासी संघों और लोगों के सहयोग से शत प्रतिशत कचरे का सेग्रिगेशन (छंटाई) किया जा रहा है।

अब आप अपने आस पास कि समस्याओं के लिए सीधे इस आप के द्वारा संपर्क कर सकते है और तुरंत सहयोग प्राप्त कर सकतें है. जैसे अगर आपके छेत्र कि स्ट्रीट लाइट बंद है, या कही गन्दगी का ढ़ेर है तो आप सीधे इस APP के माध्यम से सहायता प्राप्त कर उसका निदान कर सकते है. इससे आम जन भी अपने जिम्मेदारी समझेगे और देश को आगे बढ़ाने में अपना योगदान देगे.

गीले कचरे से कंपोस्ट बनाने के कई प्लांट यहां लगाए गए हैं। यह इंदौर में ही संभव है, क्योंकि यहां के लोग बहुत सहयोगी हैं। उन्होंने जनता के सहयोग के बगैर कुछ संभव नहीं होने की बात कही। रहवासी संघों ने महापौर-आयुक्त से पॉलिथीन का विकल्प उपलब्ध कराने का आग्रह किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *