Innovation & Ideas Local News

इंदौर में सब्जी मंडी से निकलने वाले कचरे से गैस बनाकर चलाएंगे सिटी बसे

गुरुवार को महापौर  मालिनी गौड़ सफाई पर संवाद करने के लिए एसोसिएशन ऑफ इंडस्ट्रीज मप्र (एआईएमपी) के पोलोग्राउंड स्थित दफ्तर पहुंचीं। उन्होंने शहर को दोबारा सफाई में नंबर वन बनाने के लिए उद्योगपतियों को स्वच्छता की शपथ दिलाई। उन्होंने बताया की चोइथराम मंडी से निकलने वाले कचरे के निपटारे के लिए बायोगैस प्लांट लगाया गया है। इससे इतनी गैस बनेगी कि 25 सिटी बसें चल सकेंगी। उद्योगपतियों के बीच मौजूद महापौर मालिनी गौड़ ने कहा कि सिर्फ सफाई से ही यह संभव हो सका है कि शहर में वायु प्रदूषण का स्तर 42 प्रतिशत कम हो गया।

उन्होंने कहा पहले शहर में यहां-वहां कचरा पेटियां रखी होती थीं जो खराब दिखने के साथ ही बदबू फैलाती थीं। शहर को साफ बनाने के लिए हमने सबसे पहले पेटियों को हटाया। डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण अभियान केंद्र-राज्य सरकार की मदद से चलाया जो नागरिकों के सहयोग से सफल हुआ।महापौर ने इंदौर को फिर नं. 1 बनाने में शहरवासियों से सहयोग की अपील की |

गुरुवार को महापौर सफाई पर संवाद करने के लिए एसोसिएशन ऑफ इंडस्ट्रीज मप्र (एआईएमपी) के पोलोग्राउंड स्थित दफ्तर पहुंचीं। उन्होंने शहर को दोबारा सफाई में नंबर वन बनाने के लिए उद्योगपतियों को स्वच्छता की शपथ दिलाई। उन्होंने कहा कि पहले शहर में यहां-वहां कचरा पेटियां रखी होती थीं जो खराब दिखने के साथ ही बदबू फैलाती थीं। शहर को साफ बनाने के लिए हमने सबसे पहले पेटियों को हटाया। डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण अभियान केंद्र-राज्य सरकार की मदद से चलाया जो नागरिकों के सहयोग से सफल हुआ।

चोइथराम मंडी के कचरे से न केवल बायोगैस बनेगी बल्कि 5 टन खाद भी मिलेगी। भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर के सहयोग से स्लज से खाद बनाने का प्लांट लगाया जा रहा है।

महापौर ने उद्योगपतियों से आग्रह किया कि वे अपने आस-पास सभी लोगों को सफाई बनाए रखने के लिए जागरूक करें। एआईएमपी के अध्यक्ष आलोक दवे, सचिव योगेश मेहता के साथ अन्य प्रतिनिधि भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *